वेदांता ने कोविड के बाद की आर्थिक रिकवरी की तैयारी.

केंद्र सरकार के पूर्व सचिव जितेंद्र कुमार दादू हिंदुस्तान की प्रबंधन समिति में शामिल

उदयपुर। कोविड—19 के बाद आर्थिक रिकवरी के लिए भारत की सबसे बड़ी डावर्सिफाइड प्राकृतिक संसाधन कंपनी वेदांता ने उच्च स्तर पर दो नियुक्तियों की घोषणा की है। इसमें एक जितेंद्र कुमार दादू हैं, जिनको वरिष्ठ सलाहकार के तौर पर नियुक्त किया गया है। वे दिसंबर 2017 में केंद्र सरकार के सचिव की रैंक से रिटायर हुए थे।

दूसरी नियुक्ति स्टीम आथोरिटी आफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन व प्रबंध निदेशक प्रकाश कुमार सिंह को वेदांता की इलेक्ट्रोस्टील्स लिमिटेड, ईएसएल के प्रेसिडेंट—ग्रोथ प्रोजेक्ट पर नियुक्त किया गया है। इन दोनों नियुक्तिों पर वेदांता के सीईओ सुनील दुग्गल ने कहा—दादू और सिंह के हमारे प्रतिष्ठित परामर्शक बोर्ड में शामिल होने से व्यापक अनुभव और ज्ञान से हमें लाभ मिलेगा।

दादू वेदांता के जिस परामर्शक बोर्ड में शामिल हुए हैं, उसमें पूर्व विदेश सचिव रंजन मथाई, पूर्व आर्थिक मामले के सचिव आर गोपालन और पूर्व पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस सचिव सौरभचंद्रा भी शामिल हैं।

दादू ने अपनी नियुक्ति पर कहा कि बीते वर्षों में वेदांता ने उद्योग जगत एवं राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभाई है।

आईआईटी रूड़की से मेटालार्जिकल इंजीनियर प्रकाश कुमार सिंह ईएसएल प्रबंधन समिति का अभिन्न हिस्सा हैं और वे कंपनी की मार्केटिंग, नीति और वृद्धि में अहम भूमिका निभाएंगे। 

Related

JOIN THE DISCUSSION

3 × 3 =