सियासी घमासान के चलते शुरू हुई राजनैतिक बाड़ाबंदी

प्रदेश में चल रहे सियासी घमासान के बीच दोनो ही बड़ी राजनैतिक पार्टियां अपना विकिट बचाने की जुगत में लगी है, पायलट गुट की बगावत का बाद पहले तो कांग्रेस सरकार पर ही तलवार लटक रही थी लेकिन गहलोत के पास मौजूद विधायकों का आंकड़ा बहुमत के अति नजदीक होने की वजह से अब भाजपा को भी अपने विधायकों की खरीद फरोख्त का डर सताने लगा है।

अब प्रदेश के राजनैतिक गलियारों से दोनो ही पार्टियों से सरकार बचाओ की आवाज़ें सुनाई देने लगी है। भारतीय जनता पार्टी ने भी अब प्रशिक्षण शिविर की आड़ में अपने विधायकों की बाड़ेबंदी करना शुरू कर दिया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उदयपुर के भी सभी बीजेपी विधायकों को मावली विधायक धर्मनारायण जोशी के नेतृत्व में शुक्रवार देर रात उदयपुर से सिरोही ले जाया गया, वहां से कुछ विधायकों को साथ लेकर पालनपुर के रास्ते गुजरात में प्रवेश कराया गया है, और सम्भवतया गांधी नगर के किसी रिसोर्ट में ठहराने की सूचना मिल रही है। साथी यह भी जानकारी मिल रही है कि इन्हें सोमनाथ भी ले जाया जा सकता है।

आपको बता दें कि बीजेपी द्वारा की जाने वाली बाड़ेबंदी के दो कारण माने जा रहे है जिसमें पहला, बसपा के विधायकों के लिए सुप्रीम कोर्ट का फैसला और दूसरा वसुंधरा की नाराजगी भी सामने आ रही है। गहलोत जी जादूगरी किसी से छिपी नहीं है और संभावना जताई जा रही है कि यदि सुप्रीम कोर्ट का फैसला बसपा के विधायकों के लिए गहलोत सरकार के खिलाफ आता है तो भी बीजेपी से विधायकों की खरीद – फरोख्त की जा सकती है। वहीं दूसरी और वसुंधरा की नाराजगी भी बीजेपी के विधायकों को तोड़ सकती है।

यहां सबसे बड़ी बात यह है कि विधायकों को चरणबद्ध तरीके से बाड़ेबंदी में ले जाने का फैसला प्रदेश आलाकमान द्वारा किया गया है जिसे प्रशिक्षण शिविर का नाम दिया गया है। इसमें बताया गया है कि यदि फ्लोर टेस्ट होता है तो विधायकों को किस तरह से पेश आना है इसका प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

मेवाड़ और मारवाड़ के विधायकों की बाड़ेबंदी के दौरान मावली विधायक धर्म नारायण जोशी के नेतृत्व में सभी विधायकों को भेजा गया है जिसमें उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, झाडोल विधायक बाबूलाल खराड़ी, सलूंबर विधायक अमृत लाल मीणा और धरियावद विधायक गौतम लाल मीणा शामिल है। फिलहाल यह पूरी जानकारी सूत्रों के हवाले से ही लिखी गई है क्योंकि सभी विधायकों के मोबाइल फोन स्विच ऑफ आ रहे हैं।

Related

JOIN THE DISCUSSION

seventeen − 8 =