बैंक के बाहर लूट के प्रयास के दौरान हुई कलेक्शन एजेंट कि हत्या के तीनो आरोपी गिरफ्तार

सोमवार को उदयपुर शहर के पंचवटी इलाके में एक्सिस बैंक के बाहर लूट के प्रयास के चलते हुई चाकूबाजी में हुई कलेक्शन एजेंट कि हत्या के मामले पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तार हुए आरोपियों कि पहचान नागदा रेट्रोरेन्ट कि गली निवासी दिनेश (पिक्की) 24, रोशन टेंट हाउस के पास प्रताप नगर निवासी नवीन उर्फ नानू नाथ और पुरोहित जी की हवेली गणेश घाटी निवासी प्रशांत सिंह रूप में हुई है तीनों ही आरोपियों की राज जगत में यह पहली एंट्री है और इससे और इनके खिलाफ कोई भी आपराधिक मामला दर्ज नहीं है।

गिरफ्तार हुए आरोपियों में से दिनेश मेघवाल और प्रशांत सूद रोही 100 फिट रोड स्थित फ्लिपकार्ट कंपनी काम किया करते थे और पिछले दो-तीन हफ्तों से ऑफिस नहीं जा रहे थे.

पुलिस की तफ्तीश में सामने तथ्यों के आधार पर यह पाया गया कि आरोपियों ने इस घटना को पैसे लूटने के इरादे से अंजाम दिया, उदयपुर एसपी श्री कैलाश बिश्नोई के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार तीनों ही आरोपियों ने मृतक का पीछा सेक्टर 14 स्थित उसके ऑफिस से किया और एक्सिस बैंक के बाहर घटना को अंजाम दिया, बिश्नोई ने बताया कि तीनों ही आरोपियों को यह पहले से ज्ञात था कि मृतक अक्सर एक्सिस बैंक में मोटा कैश अमाउंट जमा करवाने जाता हैं,इसके चलते उन्होंने घटना को अंजाम देने से पहले 3 बार मृतक का पीछा कर उसकी रेकी भी की थी, आरोपियों से मिली जानकारी के अनुसार घटना को अंजाम देने से पहले रेकी करने के लिए आरोपी अपने एक मित्र से उसकी बाइक ले आते थे और शाम को लौटा दिया करते थे पुलिस अब बाइक के मालिक से भी पूछताछ कर रही है और घटना में उसकी लिप्सिता का भी पता लगा रही है।

घटना के तुरंत बाद सोमवार को जब पुलिस मौके पर पहुंची और फाइल अवस्था में मृतक अमित सांखला को हॉस्पिटल पहुंचाया गया, अमित ने पुलिस को बताया कि वह राइटर सेफगार्ड प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी में काम करता है और सोमवार को बैंक का कलेक्शन लेकर वह अपने ऑफिस से सबीना रेती स्टैंड सूरजपोल एक्सिस बैंक पहुंचा था बैग में Rs.3000300 थे, जैसे ही उसने अपनी बाइक को बैंक के बाहर खड़ा किया तभी पीछे से दो-तीन लोग आए और उसको पकड़ लिया और उस पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया, प्ले के बावजूद उसने उन्हें रुपयों से भरा बैग ले जाने नहीं दिया और घायल अवस्था में बैंक के अंदर भाग गया।

मृतक से मिली जानकारी के अनुसार और बैंक के बाहर लगे सीसीटीवी के आधार पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की एसपी श्री कैलाश बिश्नोई द्वारा विशेष टीमों का गठन किया गया जिन्होंने पूरे शहर में संदिग्धों से पूछताछ शुरू की, पुलिस ने सैकड़ों सीसीटीवी फुटेज को खंगाला और साइबर सेल की मदद से तकनीकी अनुसंधान भी किया, पुलिस ने संदिग्धों की सीसीटीवी फुटेज बलत्कार सोशल मीडिया पर वायरल भी की, दौरान पुलिस को संदिग्धों के बारे में अहम जानकारियां जिनके आधार पर पुलिस ने उन्हें बुधवार को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने आरोपियों से घटना में प्रयोग की गई मोटर बाइक पल्सर 220 RJ27 BV 3569 भी बरामद कर ली है और घटना में आरोपी द्वारा पहने गए कपड़े और घटना को अंजाम देने में प्रयोग किए गए चाकू की बरामदगी के प्रयास जारी हैं।

बिश्नोई ने बताया कि कंपनी द्वारा सिक्योरिटी प्रोटोकोल की पालना नहीं करने और इतना बड़ी राशि को अकेले मृतक के साथ बिना किसी सेफ्टी के भेजने पर पुलिस अब कंपनी से भी जवाब मांगेगी और जरूरत पड़ने पर कार्यवाही भी करेगी.

पुलिस की विशेष टीमों में शामिल डिप्टी एसपी महेंद्र पारीक, हाथीपोल थाना अधिकारी आदर्श कुमार, धानमंडी थानाधिकारी मनीष चारण, संजीव स्वामी, थानाधिकारी सूरजपोल राम सुमेर मीणा, थानाधिकारी हिरण मगरी डॉक्टर हनुमंत सिंह व डीएसटी प्रभारी योगेश चौहान और उनकी टीम ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर रामस्वरूप मेवाड़ा के नेतृत्व में कार्रवाई को अंजाम देते हुए तीनों आरोपी को गिरफ्तार करने में अहम भूमिका निभाई।

पुलिस ने बताया कि घटना को अंजाम देने के बाद तीनों ही आरोपी मौके से फरार हो गए और अलग-अलग ठिकानों पर जाकर छुप गए पुलिस ने तीनों को अलग-अलग स्थानों पर दबिश देकर गिरफ्तार किया सभी आरोपियों को अब लूट का प्रयास और हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर उनसे घटना से जुड़े और भी पहलुओं पर पूछताछ कर रही है।

Related

JOIN THE DISCUSSION

17 − ten =