हर व्यक्ति के जीवन के लिए ऐहतियात बरतना जरूरी – कलक्टर.

जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने कहा है कि इन दिनों प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रभाव को देखते हुए हमें हर व्यक्ति के जीवन के लिए ऐहतियात बरतना जरूरी है। राज्य सरकार द्वारा 22 से 31 मार्च तक लॉकडाउन किया है।

इससे आमजन को थोड़ी परेशानी जरूरी होगी परंतु हम आने वाली बड़ी भारी विपदा से बच जाएंगे। ऐसे में हर व्यक्ति का सहयोग जरूरी है।  

कलक्टर श्रीमती आनंदी रविवार को यहां कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम विषय पर आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित कर रही थी।

धारा 144 में अब 5 से ज्यादा एकत्र नहीं होंगे:
कलक्टर ने कहा कि रविवार को आहुत जनता कर्फ्यू को उदयपुर ने खुलकर समर्थन किया है और अब आगामी 31 मार्च तक भी लोगों से ऐसे ही सहयोग की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि धारा 144 को भी अब संशोधिक किया गया है और अब जिले में किसी भी स्थान पर पांच या पांच से अधिक लोगों के एकत्र होने पर पाबंदी लगाई गई है। उन्होंने कहा कि किसी भी हालत में पांच से अधिक लोगों को एकत्र होने नहीं दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि लॉक डाउन के बाद रोजमर्रा के जीवन से संबंधित सभी चीजें यथा दवाई, किराणा, दूध, गैस आदि उपलब्ध रहेंगी परंतु बाकी किसी भी गतिविधियों पर पूरी तरह रोक रहेगी। आवश्यक सेवाओं वाले को छोड़कर कोई भी कार्यालय नहीं खुलेंगे।

गरीब तबके को नहीं होगी कोई परेशानी :
उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा लॉकडाउन के हालातों में गरीब तबके के लोगों के लिए अनटाईड फण्ड उपलब्ध कराया गया है और निर्देशानुसार फूड पैकेट्स के लिए कीचन इत्यादि की व्यवस्थाएं की जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि जितने भी लोग पीडीएस सिस्टम से गेहूं लेते हैं उनके लिए हम एडवांस में राशन देना शुरू कर रहे है और जिनके नाम पीडीएस में नहीं है और जरूरतमंद है उनके लिए भी हम व्यवस्था कर रहे हैं कि फूड पैकेट्स सब तक पहुंचे व उन्हें किसी प्रकार की परेशानी न हो।

निगरानी के लिए प्रत्येक अधिकारी-कर्मचारी की सेवाओं की रहेगी जरूरत
प्रेस वार्ता दौरान जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने स्पष्ट किया कि गत दिनों बाहर से बड़ी संख्या में बाहर से लोगों का उदयपुर में आगमन हुआ है और यदि हम इनमें से हर एक की लिस्टिंग नहीं करेंगे और उसके लक्षणें को नहीं देखेंगे तो हमें पता नहीं चलेगा कि कौन वायरस से संक्रमित है और कौन नहीं ?

इसके लिए हमारे पास एक-एक व्यक्ति के बारे में जानकारी प्राप्त करनी जरूरी है, इसीलिए चिह्नीकरण का कार्य एक दो दिन और चलेगा और इसमें हर प्रकार के अधिकारी-कर्मचारी की सेवाओं की जरूरत रहेगी।

उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन, चिकित्सा विभाग के साथ-साथ कई विभागों के कार्मिक इस कार्य में पूरी प्रतिबद्धता से कार्य कर रहे हैं और सबके सहयोग से ही यह कार्य पूर्ण होगा।

सतर्क रहें, अफवाहों पर ध्यान न दें: एसपी
प्रेस वार्ता को जिला पुलिस अधीक्षक कैलाशचंद्र विश्नोई ने भी संबोधित किया और कहा कि लॉकडाउन दौरान धारा 144 की सख्ती से पालना करवाई जाएगी।

समस्त प्रकार के सार्वजनिक परिवहन के वाहनों का संचालन पूरी तरह बंद कर दिया गया है। सिटी में एंबुलेंस और उन टैक्सियों को छूट मिलेगी जो सिर्फ और सिर्फ हॉस्पीटल तक की यात्रा कर रही हो।

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर अफवाहों पर विभाग द्वारा निगरानी रखी जा रही है और अफवाह फैलाने वालों पर कार्यवाही की जा रही है।

Related

मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि...

JOIN THE DISCUSSION

four + 11 =