स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने मस्तान बाबा की दरगाह पर चढाई चादर,देश में अमन की मांगी दुआ.

राष्ट्रीय पिता महात्मा गाँधी,मुलाना अब्दुल कलाम आजाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल जैसे स्वतंत्रता संग्राम सेनानीयों के साथ काम कर चुके स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हाजी मोहम्मद चाँद आज उदयपुर पहुंचे।

हाजी मोहम्मद ने उदयपुर के मल्लातलाई स्थित हजरत अब्दुल रऊफ उर्फ़ मस्तान शाह बाबा की दरगाह की जियारत की,बाबा की मजार पर चादर पेश की अकीदत की फूल करते हुए देश में अमन चैन की दुआ मांगी।

इस मौके पर राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा के जिला अध्यक्ष अख्तर हुसैन प्रदेश संजोयक अनीस अब्बासी समाज सेवी तनवीर चिश्ती और मस्तान बाबा दरगाह कमेटी के सदस्यों ने उनका इस्तक़बाल किया, इसके पश्चात् दरगाह कमेटी द्वारा उनकी दस्तार बंदी भी की गई।

महाराष्ट्र के पुणे शहर के समीप मट्टी गांव के रहने  वाले हाजी मोहम्मद भाई शुक्रवार को उदयपुर पहुंचे जहाँ उन्होने कही समाज सेवी और विभिन्न संघटनो के कार्यकर्ताओं से मुलाक़ात की।

इस से पूर्व पिछले शुक्रवार को उन्होंने उत्तराखंड के कलयर गांव स्थिति हज़रत साबिर सरकार के दरगाह की भी जियारत की थी।

हाजी साहब ने बताया वो हमेशा से ही देश के लिए कुछ करना चाहते थे और 12 साल की आयो से ही देश की स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन  से जुड़ गए थे,इसके चलते उनको कई बार गिरफ्तार किया गया पर अल्प आयो होने की वजह से जेल नहीं भेजा गया।

उनके परिवार को भी अंग्रेजी हुकूमत द्वारा धमकी दी गई की की अगर उन्होंने ये सब बंद नहीं किया तो उन्हें जेल में डाल दिया जायेगा लेकिन उनकी धमकियों का उनपर कोई प्रभाव नहीं पड़ा और वह स्वतंत्रता आंदलनों में हिस्सा लेते रहे।
ये ही नहीं हाजी साहब नफ़रत बताया की गाँधी जी के संपर्क में आने के बाद से उन्होंने मास खाना भी छोड़ दिया।

देश की भाई चारे और की बात करते हुए हाजी साहब ने कहा की कुछ असामाजिक तत्व देश में नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं और इनसे निपटने के लिए देश की जनता को संगठित हुई कार्य करना होगा।

Related

JOIN THE DISCUSSION

14 + twenty =