परचम कुशाई की रस्म के साथ इमरत रसूल बाबा के 130वें उर्स का आगाज.

शहर के ब्रह्मपोल बाहर स्थित दरगाह हजरत इमरत रसूल शाह बाबा के तीन दिवसीय 130वें उर्स का आगाज परचम कुशाई की रस्म के साथ बुधवार को दरगाह परिसर में पीर मोहम्मद अली हाशमी नागौरी की सरपरस्ती में बाद नमाज असर सायं 5 बजे हुआ।

दरगाह कमेटी के नायब सदर मोहम्मद रफीक ने बताया कि हजरत इमरत रसूल शाह बाबा के उर्स का आगाज सदर मोहम्मद युसुफ ने परचम कुशाई की रस्म अदा करके किया। इस अवसर पर मुबारिक हुसैन, शब्बीर हुसैन, जाकिर हुसैन, मोहसिन हैदर, अब्दुल हमीद, मांगु खान, जफर खान सहित बाबा के सैंकड़ों अकीदतमंद मौजूद थे।

परचम कुशाई के बाद दरगाह के गद्दीनशीन इकबाल हुसैन, सिकन्दर खान, सलीम खान, अब्दुल अजीज सिंधी ने चादर पेश की। फातिहा ख्वानी व सलातो सलाम पढा गया। मुल्क में अमन-चैन, भाईचारे की दुआएं की गई।

मगरिब की नमाज के बाद अकीदतमंदों के बीच लंगर तकसीम किया गया। रात्रि बाद नमाज इशा 8 बजे से नूर नगरी मिलाद पार्टी ने नातिया कलाम पेश किए।

कल रात्रि कव्वाली का प्रोग्राम:

गुरूवार 31 अक्टुबर 2019 को रात्रि बाद नमाज इशा महफिले समां में कव्वाली का प्रोग्राम आयोजित किया जायेगा। जिमसें मुम्बई के नौशाद हामिद व जावरा के मुजम्मिल हुसैन फजल हुसैन कव्वाल पार्टियां शिरकत करेगी।

Related

JOIN THE DISCUSSION

one × four =