झीलों की नगरी  में बारिश का दौर लगातार  जारी, झीले  हुई लबा – लब,२  ट्रेने रद्द .

 झीलों में नगरी में बारिश की लगातार झडी ने लोगों के चेहरों पर खुशी ला दी है। कल रात को शुरू हुआ मूसलाधार बारिश का दौर आज भी जारी रहा। 

सुबह हल्की बूंदाबांदी के बाद दोपहर 2.30 बजे व शाम 6 बजकर 42 मिनट तक करीब दस से बारह मिनट तेज बारिश का दौर चला। बरसात के बावजूद बनी उमस से आज की बारिश से राहत दी है। बारिश से स$डकों पर पानी भर गया व नदी-नाले एक बार फिर उफान पर आ गए है। 

सीसारमा नदी 3 फीट व मदार नहर 2 फीट के वेग से बह रही है।

एशिया की दूसरे सबसे बडे मीठे पानी की झील जयसमंद झील जिसे ढेबर झील भी कहा जाता है।

अपनी पूर्ण भराव क्षमता से केवल पौन फीट खाली रह गई है। आज इसका जलस्तर 26 फीट 8 इंच (7.96 मीटर) को पार कर गया। पूर्ण भराव क्षमता साढे 27 फीट (8.38.मीटर) से अब यह पौन फीट खाली है। गोमती व खरका नदी से जयसमंद में लगातार आवक हो रही है। पीछोला व फतहसागर फिर लबालब हो गए है।

फतहसागर के चारों गेट दो-दो इंच व स्वरूपसागर के दो गेट 11 इंच खुले हुए है। दोनों ओर से बहता पानी यूआईटी पुलिया होते हुए आयड नदी में तेज बहाव के साथ बह रहा है। उदयसागर में भी लगातार आवक के चलते इसके दोनों गेट पांच-पांच इंच खुले हुए है। मदार बडा व छोटा भी एक बार फिर छलक पड़े है।


दो रेलें रद्द
: वरिष्ठ जन संपर्क निरीक्षक अजमेर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार पूर्वोत्तर व मुंंबई में भारी बारिश के चलते उदयपुर से दो ट्रेने रद्द कर दी गई है।

उदयपुर-बान्द्रा टर्मिनस गाडी संख्या 22902 आज उदयपुर से रवाना नहीं हुई। इस रेल सेवा को मुंबई में भारी बारिश के कारण लोअर परेल-एलीफीस्टन रोड-दादर रेलखंडो पर पानी भर जाने के कारण रद्द किया गया है।

 वहीं गाडी संख्या 19601 उदयपुर-न्यूजलपाईगुडी रेल आगामी 2 सितम्बर को पूर्वोत्तर रेलवे के कटियार मण्डल पर बारिश के कारण एवं रैल की कमी के चलते रद्द की गई है।

Related

JOIN THE DISCUSSION

one + ten =