उदयपुर में आकार ले रहा है राजस्थान का पहला लघु वनोपज विशिष्ट मण्डी यार्ड.

उदयपुर में इन दिनों आदिवासियों को उनकी वनोपज का उचित मूल्य दिलाने की सुविधा मुहैया कराने के लिए राजस्थान का पहला लघु वनोपज विशिष्ट मण्डी यार्ड बन रहा है जिससे क्षेत्र के जंगलों और पहाड़ों में वनोपज एकत्रित करने वाले आदिवासियों का जीवन स्तर तेजी से ऊपर उठने लगेगा।

DOM KUMS Udaipur  (2)

वनोपज का उचित दाम दिलाने, संग्रहण व विपणन की केन्द्रीय व्यवस्था सुलभ कराकर आदिवासियों को खुशहाल बनाने की मंशा से अगस्त-2014 में सरकार आपके द्वार के अन्तर्गत हुए दौरे में मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे के समक्ष गृह मंत्री श्री गुलाबचन्द कटारिया एवं उदयपुर के सांसद श्री अर्जुनलाल मीणा ने वनोपज कारोबार की  बात रखी।

मुख्यमंत्री ने आदिवासियों के आर्थिक विकास को संबल देने के लिए वनोपज संग्रहण एवं बाजार उपलब्ध कराने के लिए उदयपुर मुख्य मण्डी यार्ड में लघु वन उपज विशिष्ट मण्डी स्वीकृत की और इसके निर्माण के लिए 4.44 करोड़ लागत की घोषणा की।

मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के उपरान्त मण्डी में वनोपज विक्रय आरंभ होने से आदिवासियों को लघु वन उपज को मण्डी के रूप में खुशहाली लाने का बाजार मिला है, फलस्वरूप लघु वन उपज की उचित कीमत से स्थानीय स्तर पर लघु वन उपज संग्रहण से ही रोजगार प्राप्त हुआ है, तथा आदिवासियों की आय में बढ़ोतरी हुई है।

DOM KUMS Udaipur  (3)

इस यार्ड में ऑक्शन प्लेटफार्म, सड़कों, छाया, पानी, बिजली आदि सभी प्रकार की सुविधाएं सुलभ होंगी। इस मण्डी में जनजाति वर्ग के लोगों एवं जनजाति वर्ग की सोसायटियों को भूखण्ड आवंटन का प्रावधान किया जा रहा है। अच्छी बात यह भी है कि आदिवासियों को मण्डीयार्ड में व्यापार से जोड़ने व बढ़ावा देने के लिए  20 प्रतिशत भूखण्ड/दुकान देने की नीति बनाई गई है। इसका प्रत्यक्ष लाभ भी आदिवासियों को मिलेगा।

उदयपुर में बन रही राज्य की पहली वन उपज विशिष्ठ मण्डी का निर्माण कार्य प्रगति पर है। बरसात के बाद की वन उपज के उत्पादन एवं संग्रहण को ध्यान में रखते हुए वन उपज का क्रय-विक्रय नवीन मण्डी यार्ड में विधिवत रूप से किया जाएगा।

कृषि उपज मण्डी समिति के सचिव श्री भगवानलाल जाटव के अनुसार इस मण्डी यार्ड में 208.6 लाख रुपए लागत से विशाल डोम बनेगा। इसके साथ ही सी.सी. रोड बनाया जा रहा है जिस पर 85.08 लाख रुपए व्यय होगा। इसमें 70  दुकानें होंगी।  राजस संघ को भी दुकान यहीं दी जाएगी।

उदयपुर में बन रहा लघु वन उपज विशिष्ठ मण्डी यार्ड देश के आदिवासी क्षेत्रों में अपनी तरह का पहला और विशाल होगा। इसके लिए लघुवन उपज नवीन मण्डीयार्ड के ले-आऊट प्लान में भूखण्डों का चिह्नांकन हो चुका है। इसमें चारदीवारी, केंटीन, महिला-पुरुष के लिए पृथक-पृथक सुविधालय, प्याऊ, मुख्य द्वार पर चैक पोस्ट आदि के कार्य पूर्ण हो चुके हैं। वन उपज मण्डीयार्ड में आन्तरिक सड़कों का कार्य प्रगति पर है।

यह यार्ड उदयपुर संभाग भर के आदिवासियों के लिए खुशहाली देने वाला यार्ड सिद्ध होगा। हाल ही गृह मंत्री श्री गुलाबचन्द कटारिया एवं क्षेत्रीय सांसद श्री अर्जुनलाल मीणा ने मण्डी यार्ड के लिए बनने वाले विशाल डोम का शिलान्यास किया। आने वाले समय में उदयपुर का यह मण्डी यार्ड पूरे राजस्थान को गौरव प्रदान करने वाला साबित होगा।

Related

यूनिसेफ राजस्थान और लोक संवाद संस्थान की...

JOIN THE DISCUSSION

fourteen − two =