स्वायत्त शासन विभाग के सचिव सिद्धार्थ महाजन ने नगर निगम के तितरडी इलाके में संचालित किये जा रहे ठोस कचरा निस्तारण प्लांट का किया निरीक्षण.

ठोस कचरा निस्तारण के काम के आधार पर उदयपुर, डूंगरपुर और प्रतापगढ़ सहित 6 शहरों को मॉडल सिटी के रूप में स्वायत शासन विभाग द्वारा बनाने का कार्य किया जा रहा है ।

इसी कड़ी में स्वायत्त शासन विभाग के सचिव सिद्धार्थ महाजन ने आज नगर निगम द्वारा तितरडी इलाके में संचालित किये जा रहे ठोस कचरा निस्तारण प्लांट का निरीक्षण किया । इस मौके पर नगर निगम और जिला प्रशासन के अधिकारियों सहित इससे जुड़े कर्मचारी भी मौजूद रहे ।

इस दौरान महाजन ने पूरे प्लांट में घूमकर यहां पर संचालित हो रही गतिविधियों के बारे में जानकारी जुटाई । साथ ही इसको लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए ।

तितरडी इलाके में स्थित इस कचरा निस्तारण के प्लांट में करीब 18 तरह के विभिन्न अपशिष्टों अलग अलग करने का कार्य किया जाता है ।  60 टन कचरा संग्रहण क्षमता के इस प्लांट में उदयपुर के करीब 10 वार्डों का 10 टन कचरा प्रतिदिन लाया जाता है । इसके बाद यहां पर कार्य करने वाली महिलाओं द्वारा सबसे पहले इस कचरे को छांटा जाता है उसके बाद यहां पर लगी विभिन्न मशीनों में इसे साफ कर ग्राइंड किया जाता है ।

यही नहीं ग्राइंड के बाद तैयार हुए मटेरियल को गुजरात सहित अन्य जगहों की इंडस्ट्रीज में बेचा जाएगा । प्लांट का निरीक्षण करने के बाद स्वायत शासन विभाग के सचिव सिद्धार्थ महाजन ने मीडिया से बातचीत करते हुए इस प्लांट में चल रहे कार्यों को देखकर खुशी जाहिर की । महाजन ने कहा कि यहां पर पुराने कचरे को सही ढंग से व्यवस्थित करने का कार्य किया जा रहा है ।

यही नहीं जो प्लास्टिक हमें बाधा उत्पन्न करता है उसे भी यहां पर व्यवस्थित कर बेचने के काम मे लिया जा रहा है । महाजन ने कहा कि इस प्लांट के पास में ही बेड वेस्ट को कंपोजिट करने का प्लांट जल्द ही स्थापित किया जायेगा।

इस मौके पर महाजन ने दावा किया कि कचरा निस्तारण के मामले में प्रदेश का यह पहला केंद्र है जहां पर अच्छा कार्य चल रहा है ।

Related

JOIN THE DISCUSSION

twelve − 8 =